Hindi Bible Study

Hindi language of verse by verse bible teachings

    Loading Plays
    554Episodes
  • Feeds

    • rss2 podcast
    • atom feed
  • Websites

  • Pages

Feb 14th, 2015 by waynelampe at 4:28 pm

Greetings Podcast Listener

I am restructuring my eight podcast channels which broadcast bible teachings in: Arabic, Chinese, Hindi, Japanese, Korean, Portuguese, Russian, and Spanish. I have Lou Gehrig’s disease for nine years. It effects my voluntary muscles unable to receive signals from the brain. Eighty percent of people with this disease die within five years.

It is very difficult for me to keep posting daily podcasts. I have very few subscribers, comments or likes. Some channels have sermons for all sixty six books in the bible. Podcast will be arranged from Genesis to Revelation in the order they appear in the bible. The first sermon of each book is displayed. There is a click here link for remaining lessons. If I have not previously posted sermons in that book, a link will be provided if I have another source.

My hope is you find the saving grace of Jesus Christ and grow spiritually by learning his word.

Sincerely

Wayne Lampe 

Feb 7th, 2015 by waynelampe at 12:57 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Feb 6th, 2015 by waynelampe at 12:54 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Feb 5th, 2015 by waynelampe at 12:51 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Feb 4th, 2015 by waynelampe at 12:46 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Feb 3rd, 2015 by waynelampe at 12:39 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Feb 2nd, 2015 by waynelampe at 12:39 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Feb 1st, 2015 by waynelampe at 12:35 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 31st, 2015 by waynelampe at 12:32 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 30th, 2015 by waynelampe at 8:32 pm
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 24th, 2015 by waynelampe at 12:19 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 22nd, 2015 by waynelampe at 12:18 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 20th, 2015 by waynelampe at 12:16 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 18th, 2015 by waynelampe at 12:13 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 16th, 2015 by waynelampe at 10:13 pm
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 14th, 2015 by waynelampe at 12:55 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 12th, 2015 by waynelampe at 8:55 pm
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 10th, 2015 by waynelampe at 8:50 pm
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 8th, 2015 by waynelampe at 8:43 pm
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 6th, 2015 by waynelampe at 8:41 pm
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 4th, 2015 by waynelampe at 8:37 pm
Listen Now:


09_1SA250.jpg

Jan 2nd, 2015 by waynelampe at 12:35 am
Listen Now:


Jan 1st, 2015 by waynelampe at 12:18 am
Listen Now:


लूका 18 Hindi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-HI)

परमेश्वर अपने भक्त जनों की अवश्य सुनेगा

18 फिर उसने उन्हें यह बताने के लिए कि वे निरन्तर प्रार्थना करते रहें और निराश न हों, यह दृष्टान्त कथा सुनाई: वह बोला: “किसी नगर में एक न्यायाधीश हुआ करता था। वह न तो परमेश्वर से डरता था और न ही मनुष्यों की परवाह करता था। उसी नगर में एक विधवा भी रहा करती थी। और वह उसके पास बार बार आती और कहती, ‘देख, मुझे मेरे प्रति किए गए अन्याय के विरुद्ध न्याय मिलना ही चाहिये।’ सो एक लम्बे समय तक तो वह न्यायाधीश


(more...)

Dec 29th, 2014 by waynelampe at 1:22 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

शमूएल शाऊल का अभिषेक करता है

10 शमूएल ने विशेष तेल की एक कुप्पी ली। शमूएल ने तेल को शाऊल के सिर पर डाला। शमूएल ने शाऊल को चुम्बन किया और कहा, “यहोवा ने तुम्हारा अभिषेक अपने लोगों का प्रमुख बनाने के लिये किया है। तुम यहोवा के लोगों पर नियन्त्रण करोगे। तुम उन्हें उन शत्रुओं से बचाओगे जो उनको चारों ओर से घेरे हैं। यहोवा ने तुम्हारा अभिषेक (चुनाव) अपने लोगों का शासक होने के लिये किया है। एक चिन्ह प्रकट होगा जो प्रमाणित करेगा कि यह सत्य है। जब तुम मुझसे अलग होगे, तो तुम राहेल के कब्र के पास दो व्यक्तियों से, बिन्यामीन की धरती के सिवाने पर, सेलसह में मिलोगे। वे दोनों व्यक्ति तुमसे कहेंगे, ‘जिन गधों की खोज तुम कर रहे थे उन्हें किसी व्यक्ति ने प्राप्त कर लिया है। तुम्हारे पिता ने गधों के सम्बन्ध में चिन्ता करना छोड़ दिया है। अब उसे तुम्हारी चिन्ता है। वह कह रहा है: मैं अपने पुत्र के विषय में क्या करूँ?’”

(more...)

Dec 26th, 2014 by waynelampe at 12:48 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

शाऊल अपने पिता के गधों की तलास करता है।

कीश बिन्यामीन परिवार समूह का एक महत्वपूर्ण व्यक्ति था। कीश अबीएल का पुत्र था। अबीएल सरोर का पुत्र था। सरोर बकोरत का पुत्र था। बकोरत बिन्यामीन के एक व्यक्ति अपीह का पुत्र था। कीश का एक पुत्र शाऊल नाम का था। शाऊल एक सुन्दर युवक था। वहाँ शाऊल से अधिक सुन्दर कोई न था। खड़ा होने पर शाऊल का सिर इस्राएल के किसी भी व्यक्ति से ऊँचा रहता था।

(more...)

Dec 25th, 2014 by waynelampe at 12:17 am
Listen Now:


अपने शिष्यों के लिए यीशु की प्रार्थना

17 ये बातें कहकर यीशु ने आकाश की ओर देखा और बोला, “हे परम पिता, वह घड़ी आ पहुँची है अपने पुत्र को महिमा प्रदान कर ताकि तेरा पुत्र तेरी महिमा कर सके। तूने उसे समूची मनुष्य जाति पर अधिकार दिया है कि वह, हर उसको, जिसको तूने उसे दिया है, अनन्त जीवन दे। अनन्त जीवन यह है कि वे तुझे एकमात्र सच्चे परमेश्वर और यीशु मसीह को, जिसे तूने भेजा है, जानें। जो काम तूने मुझे सौंपे थे, उन्हें पूरा करके जगत में मैंने तुझे महिमावान किया है। इसलिये अब तू अपने साथ मुझे भी महिमावान कर। हे परम पिता! वही महिमा मुझे दे जो जगत से पहले, तेरे साथ मुझे प्राप्त थी।


(more...)

Dec 24th, 2014 by waynelampe at 12:44 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

इस्राएल एक राजा की माँग करता है

जब शमूएल बूढ़ा हो गया तो उसने अपने पुत्रों को इस्राएल के न्यायाधीश बनाया। शमूएल के प्रथम पुत्र का नाम योएल रखा गया। उसके दूसरे पुत्र का नाम अबिय्याह रखा गया था। योएल और अबिय्याह बेर्शेबा में न्यायाधीश थे। किन्तु शमूएल के पुत्र वैसे नहीं रहते थे जैसे वह रहता था। योएल और अबिय्याह घूस लेते थे। वे गुप्त रूप से धन लेते थे और न्यायालय में अपना निर्णय बदल देते थे। वे न्यायालय में लोगों को ठगते थे। इसलिये इस्राएल के सभी अग्रज (प्रमुख) एक साथ इकट्ठे हुए। वे शमूएल से मिलने रामा गये। अग्रजों (प्रमुखों) ने शमूएल से कहा, “तुम बूढ़े हो गए और तुम्हारे पुत्र ठीक से नहीं रहते। वे तुम्हारी तरह नहीं हैं। अब, तुम अन्य राष्ट्रों की तरह हम पर शासन करने के लिये एक राजा दो।”

(more...)

Dec 23rd, 2014 by waynelampe at 12:19 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

किर्यत्यारीम के लोग आए और यहोवा के पवित्र सन्दूक को ले गए। वे यहोवा के सन्दूक को पहाड़ी पर अबीनादाब के घर ले गए। उन्होंने अबीनादाब के पुत्र एलीआजार को यहोवा के सन्दूक की रक्षा करने के लिये तैयार करने हेतु एक विशेष उपासना की। सन्दूक किर्यत्यारीम में बहुत समय तक रखा रहा। यह वहाँ बीस वर्ष तक रहा।

यहोवा इस्राएलियों की रक्षा करता है:

(more...)

Dec 22nd, 2014 by waynelampe at 12:13 am
Listen Now:


16 “ये बातें मैंने इसलिये तुमसे कही हैं कि तुम्हारा विश्वास न डगमगा जाये। वे तुम्हें आराधनालयों से निकाल देंगे। वास्तव में वह समय आ रहा है जब तुम में से किसी को भी मार कर हर कोई सोचेगा कि वह परमेश्वर की सेवा कर रहा है। वे ऐसा इसलिए करेंगे कि वे न तो परम पिता को जानते हैं और न ही मुझे। किन्तु मैंने तुमसे यह इसलिये कहा है ताकि जब उनका समय आये तो तुम्हें याद रहे कि मैंने उनके विषय में तुमको बता दिया था।

पवित्र आत्मा के कार्य


(more...)

Dec 20th, 2014 by waynelampe at 12:12 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

परमेश्वर का पवित्र सन्दूक अपने घर लौटाया गया

पलिश्तियों ने पवित्र सन्दूक को अपने देश में सात महीने रखा। पलिश्तियों ने अपने याजक और जादूगरों को बुलाया। पलिश्तियों ने कहा, “हम यहोवा के सन्दूक का क्या करें? बताओ कि हम कैसे सन्दूक को वापस इसके घर भेजें?”

याजकों और जादूगरों ने उत्तर दिया, “यदि तुम इस्राएल के परमेश्वर के पवित्र सन्दूक को भेजते हो तो, इसे बिना किसी भेंट के न भेजो। तुम्हें इस्राएल के परमेश्वर को भेंटें चढ़ानी चाहिये। जिससे इस्राएल का परमेश्वर तुम्हारे पापों को दूर करेगा। तब तुम स्वस्थ हो जाओगे। तुम पवित्र हो जाओगे। तुम्हें यह इसलिए करना चाहिए जिससे कि परमेश्वर तुम लोगों को दण्ड देना बन्द करे।”

(more...)

Dec 19th, 2014 by waynelampe at 12:09 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

पवित्र सन्दूक पलिश्तियों को परेशान करता है

पलिश्तियों ने परमेश्वर का पवित्र सन्दूक एबनेजेर से उसे असदोद ले गए। पलिश्ती परमेश्वर के पवित्र सन्दूक को दागोन के मन्दिर में ले गए। उन्होंने परमेश्वर के पवित्र सन्दूक को दागोन की मूर्ति के बगल में रखा। अशदोदी के लोग अगली सुबह उठे। उन्होंने देखा कि दागोन मुँह के बल पड़ा है। दागोन यहोवा की सन्दूक के सामने गिरा पड़ा था।

अशदोद के लोगों ने दागोन की मूर्ति को उसके पूर्व—स्थान पर रखा। किन्तु अगली सुबह जब अशदोद के लोग उठे तो उन्होंने दागोन को फिर जमीन पर पाया। दागोन फिर यहोवा के पवित्र सन्दूक के सामने गिरा पड़ा था। दागोन के हाथ और पैर टूट गए थे और डेवढ़ी पर पड़े थे। केवल दागोन का शरीर एक खण्ड के रूप में था। यही कारण है, कि आज भी दागोन के याजक या अशदोद में दागोन के मन्दिर में घुसने वाले अन्य व्यक्ति डेवढ़ी पर चलने से इन्कार करते हैं।

(more...)

Dec 18th, 2014 by waynelampe at 4:07 pm
Listen Now:


09_1SA250.jpg

शमूएल के विषय में समाचार पूरे इस्राएल में फैल गया। एली बहुत बूढ़ा हो गया था। उसके पुत्र यहोवा के सामने बुरा काम करते रहे।

पलिश्तियों ने इस्राएलियों को हराया

उस समय, पलिश्ती इस्राएल के विरुद्ध युद्ध करने के लिये तैयार हुए। इस्राएली पलिश्तियों के विरुद्ध लड़ने गए। इस्राएलियों ने अपना डेरा एबेनेजेर में डाला। पलिश्तियों ने अपना डेरा अपेक में डाला।पलिश्तियों ने इस्राएल पर आक्रमण करने की तैयारी की। युद्ध आरम्भ हो गया। पलिश्तियों ने इस्राएलियों को हरा दिया।

(more...)

Dec 13th, 2014 by waynelampe at 12:12 am
Listen Now:


यीशु-सच्ची दाखलता
15 यीशु ने कहा, “सच्ची दाखलता मैं हूँ। और मेरा परम पिता देख-रेख करने वाला माली है। 2 मेरी हर उस शाखा को जिस पर फल नहीं लगता, वह काट देता है। और हर उस शाखा को जो फलती है, वह छाँटता है ताकि उस पर और अधिक फल लगें। 3 तुम लोग तो जो उपदेश मैंने तुम्हें दिया है, उसके कारण पहले ही शुद्ध हो। 4 तुम मुझमें रहो और मैं तुममें रहूँगा। वैसे ही जैसे कोई शाखा जब तक दाखलता में बनी नहीं रहती, तब तक अपने आप फल नहीं सकती वैसे ही तुम भी तब तक सफल नहीं हो सकते जब तक मुझमें नहीं रहते।


(more...)

Dec 11th, 2014 by waynelampe at 12:16 am
Listen Now:


09_1SA250.jpg

1 शमूएल 3 Hindi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-HI)

शमूएल को परमेश्वर का बुलावा
3 बालक शमूएल एली के अधीन यहोवा की सेवा करता रहा। उन दिनों, यहोवा प्राय: लोगों से सीधे बातें नहीं करता था। बहुत कम ही दर्शन हुआ करता था।

2 एली की दृष्टि इतनी कमजोर थी कि वह लगभग अन्धा था। एक रात वह बिस्तर पर सोया हुआ था। 3 शमूएल यहोवा के पवित्र आराधनालय में बिस्तर पर सो रहा था। उस पवित्र आराधनालय में परमेश्वर का पवित्र सन्दूक था। यहोवा का दीपक अब भी जल रहा था। 4 यहोवा ने शमूएल को बुलाया। शमूएल ने उत्तर दिया, “मैं यहाँ उपस्थित हूँ।” 5 शमूएल को लगा कि उसे एली बुला रहा है। इसलिए शमूएल दौड़कर एली के पास गया। शमूएल ने एली से कहा, “मैं यहाँ हूँ। आपने मुझे बुलाया।”

(more...)

Quantcast